Home > Health > आंखों की सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम) से जुड़ी बीमारी, और जागरूकता

आंखों की सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम) से जुड़ी बीमारी, और जागरूकता

  • In Health
  •  9 July 2024 3:50 PM GMT

आंखों की सूखापन (ड्राई आई सिंड्रोम) से जुड़ी बीमारी,  और जागरूकता

आजकल की व्यस्त लाइफस्टाइल में,...PS

आजकल की व्यस्त लाइफस्टाइल में, काम का बोझ और तनाव हमारे स्वास्थ्य पर कई तरह से नकारात्मक प्रभाव डालते हैं। इनमें से एक है आंखों से जुड़ी समस्या, जिसे ड्राई आई सिंड्रोम (Dry Eye Syndrome) कहा जाता है।


ड्राई आई सिंड्रोम क्या है?


यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें आंखों में पर्याप्त आँसू नहीं बनते या आँसू जल्दी सूख जाते हैं। इससे आंखों में जलन, खुजली, लालिमा, थकान और धुंधला दिखाई देने जैसी समस्याएं हो सकती हैं।


ड्राई आई सिंड्रोम के कारण:


1.डिजिटल स्क्रीन का अत्यधिक उपयोग: लैपटॉप, स्मार्टफोन और टैबलेट जैसे उपकरणों के स्क्रीन को देखने पर हम कम पलक झपकाते हैं, जिससे आंखों में सूखापन हो सकता है।


2.उम्र: बढ़ती उम्र के साथ, आँसू उत्पादन कम होने लगता है, जिससे ड्राई आई सिंड्रोम का खतरा बढ़ जाता है।


3.कुछ दवाएं: कुछ दवाएं आँसू उत्पादन को कम कर सकती हैं, जिससे ड्राई आई सिंड्रोम हो सकता है।


4.पर्यावरणीय कारक: धुआं, प्रदूषण और शुष्क हवा आंखों में जलन पैदा कर सकती है और ड्राई आई सिंड्रोम को बढ़ा सकती है।


5.कुछ स्वास्थ्य स्थितियां: गठिया, थायराइड रोग और Sjögren's syndrome जैसी कुछ स्वास्थ्य स्थितियां ड्राई आई सिंड्रोम का कारण बन सकती हैं।


ड्राई आई सिंड्रोम के लक्षण:


•आंखों में जलन, खुजली और लालिमा


•आंखों में थकान और भारीपन


•धुंधला दिखाई देना


•आंखों से बार-बार आँसू आना


•आंखों में संवेदनशीलता बढ़ जाना


•पलकों में चिपचिपापन


ड्राई आई सिंड्रोम का इलाज:


●ड्राई आई सिंड्रोम का कोई स्थायी इलाज नहीं है, लेकिन लक्षणों को कम करने के लिए कई तरह के उपचार किए जा सकते हैं।


●कृत्रिम आँसू: ये बूंदें आँखों को नम रखने में मदद करती हैं।


●गर्म सेंक: गर्म सेंक आँसू ग्रंथियों को उत्तेजित करने और आँसू उत्पादन को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।


●पलकों की सफाई: पलकों की सफाई से बैक्टीरिया और जमा गंदगी को हटाने में मदद मिलती है, जो आँसू ग्रंथियों को बंद कर सकती है।


●आँखों को आराम देना: डिजिटल स्क्रीन के उपयोग को कम करना और नियमित रूप से आँखों को आराम देना महत्वपूर्ण है।


●आर्द्रता बढ़ाना: घर या ऑफिस में आर्द्रता बढ़ाने से आँखों को नम रखने में मदद मिल सकती है।


●धूम्रपान छोड़ना: धूम्रपान आँखों को परेशान कर सकता है और ड्राई आई सिंड्रोम को बढ़ा सकता है।


ड्राई आई सिंड्रोम के बारे में जागरूकता:


ड्राई आई सिंड्रोम एक आम समस्या है जो जीवन की गुणवत्ता को काफी प्रभावित कर सकती है। हर साल जुलाई महीने को "Dry Eye Awareness Month" के रूप में मनाया जाता है ताकि लोगों को इस बीमारी के बारे में जागरूक किया जा सके और इसके लक्षणों और उपचार के बारे में जानकारी प्रदान की जा सके।


यदि आपको आंखों में सूखापन या ड्राई आई सिंड्रोम के अन्य लक्षण दिखाई देते हैं, तो डॉक्टर से सलाह लेना महत्वपूर्ण है।


अस्वीकरण: publickhabar.com पर प्रकाशित सभी स्वास्थ्य संबंधी लेखों को तैयार करते समय सावधानी बरती गई है। ये लेख केवल पाठकों की जानकारी और जागरूकता बढ़ाने के लिए लिखे गए हैं। publickhabar.com लेख में प्रदत्त जानकारी और सूचना के लिए किसी भी तरह का दावा या जिम्मेदारी नहीं लेता है।


उपरोक्त लेख में उल्लिखित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक है।



Share it
Top